आमंत्रण


रम्यांतर सर्व सर्वत्र के लिए एक आमंत्रण है

रम्यांतर साहित्य का शृंगार सदन है। रम्यांतर संस्कृति संचरण की वीथिका है। रम्यांतर कला का केलिकुंज है।

रम्यांतर तद्गत वस्तु का सिद्धान्त और शिल्पन कम रसोद्वेलन और रसास्वादन अधिक है।

रम्यांतर ओजस का परिपाक है। 

रम्यांतर में शैशव की ठुनक है, यौवन की पुलक है, प्रौढ़ता की सिहरन है और है वार्धक्य का विलयन।  

काव्य रचनायें
हिन्दी भाषा में रचित छन्दबद्ध एवं छन्दमुक्त कवितायें इस पृष्ठ का सौन्दर्य हैं। गीत एवं ग़ज़लों का प्रवाह एवं बाल कविताओं और मुक्तकों की मनुहार भी है यहाँ।
 

लोकभाषा रचना रंजन
लोकभाषा की सहज मिठास का दर्शन सर्वत्र है यहाँ। लोकभाषाओं में लिपटी साहित्य की अनेकों विधायें यहाँ ठुमकती मिलेंगी। इनके आस्वादन का आमंत्रण!
रम्यांतर में मूलाधार भी है सहस्रार भी है। रम्यांतर में ‘जो था’ का कीलक है, ‘जो है’ की अर्गला है, ‘जो होना चाहिए’ का कवच है।

रम्यांतर एक ‘पर्व योग’ है, जिसमें अमा और पूर्णिमा दोनों का मेल जुटता है।

रम्यांतर रम्य अंतर का है, रम्य अंतर के लिए है, रम्य अन्तर के द्वारा है–
Of the people, for the people, by the people.

रम्यांतर सर्व सर्वत्र के लिए एक आमंत्रण है!

अध्यात्म, दर्शन, धर्म, नीति
ब्रह्मानन्द सहोदर साहित्य का आँचल पकड़े रचनाकार की दार्शनिक, आध्यात्मिक एवं स्वान्तःसुखीन रचनाओं का सहज प्रकाशन है यहाँ। अवगाहन के लिए आमंत्रण!
 
आंग्ल-भाषानुवाद
अंग्रेजी भाषा-साहित्य की अनगिन रचनाओं का हिन्दी में काव्यानुवाद एवं अनेकों मौलिक अंग्रेजी रचनायें इस पृष्ठ को एक नया आयाम देती हैं। इनसे परिचित हों, आमंत्रण!
 

ब्लॉग वीथिका


सच्चा शरणम् – साहित्य, भाषा, संस्कृति व अनुभूति का रम्यांतर

सच्चा शरणम्-शीर्षकसच्चा शरणम् इस रम्यांतर जाल-स्थल (Website) का अनिवार्य अंग है। इसी चिट्ठे (Blog) पर रम्यांतर की अभिव्यक्ति का अधिकांश प्रकट होता है, होता रहेगा। साहित्य, संस्कृति, कला, प्राचीन, अर्वाचीन, लोक, शास्त्र, भाषा, भाव – सहज संयुक्त हैं यहाँ। सच्चा शरणम् वर्ष 2008 से गतिमान् है, निरंतर- कभी चटक, कभी मद्धिम।

संस्कृत के आर्ष ग्रंथों एवं अमूल्य साहित्य का अतुल वैभव हिन्दी में प्रस्तुत करने की क्षुद्र चेष्टा भी करता है सच्चा शरणम् का अकिंचन लेखक।
कविताओं के साथ-साथ ललित निबंधों का पारिजात मह-मह महकता है इस पृष्ठ पर। समीक्षा, आलोचना, सामयिक आलेख, ब्लॉग एवं ब्लॉगिंग पर लिखे तत्कालीन आलेख इस पृष्ठ को गद्य-गरिमा देते हैं।

गीतों और ग़ज़लों से तृप्त होती है इसकी प्यास। शास्त्र की भूमि पर निखरता है सच्चा शरणम् का लोक-मन। भोजपुरी भाषा की विशिष्ट रचनाओं को प्रस्तुत कर देने में सहज ही धन्य होता है यह ब्लॉग।

विभिन्न भाषाओं से हिन्दी में अनूदित रचनाओं को संकलित करने के साथ ही विशिष्ट संस्कृत एवं अंग्रेजी रचनाओं का हिन्दी अनुवाद भी सच्चा शरणम् पर प्रमुखतः प्रकाशित होते हैं। संस्कृत के आर्ष ग्रंथों एवं अमूल्य साहित्य का अतुल वैभव हिन्दी में प्रस्तुत करने की क्षुद्र चेष्टा भी करता है सच्चा शरणम् का अकिंचन लेखक। इसके अतिरिक्त भाषा, संस्कृति, विज्ञान, पर्यावरण आदि पर भी स्फुट रचनायें मिलेंगी यहाँ।

अन्य जाल-स्थल
अखिलं मधुरम् - अभीं तो आँखें नहीं भरीं
अँजोर – गँवई भाषा में आपन कुल बात
Eternal Sharing Literature – Flashing Indian Literature in English

 

उल्लेखनीय


Entries


The premature obituary of the book : Why Literature – Mario Vargas Llosa

पेरू के प्रख्यात लेखक मारिओ वर्गास लोसा (Mario Vargas Llosa) एक महत्वपूर्ण लैटिन अमेरिकी साहित्यकार हैं। इन्हें वर्ष 2010 में साहित्य के क्षेत्र में प्रतिष्ठित नोबेल पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है। लोसा का एक विशिष्ट निबन्ध है – पुस्तक को असमय श्रद्धांजलि (The premature obituary of the book : Why literature)। इस …

रवीन्द्र नाथ टैगोर की पुस्तक स्ट्रे बर्ड (Stray Bird) का हिन्दी भावानुवाद

गुरुदेव रवीन्द्र नाथ टैगोर (R.N.Tagore) की सूक्ति कविताओं की पुस्तक स्ट्रे-बर्ड (Stray Bird) का हिन्दी अनुवाद मेरे ढूँढ़ने पर भी मुझे नहीं मिला, यद्यपि गुरुदेव की अन्य कई रचनाओं के हिन्दी अनुवाद पर्याप्त रूप से उपलब्ध हैं। गीतांजलि के काव्यानुवाद के क्रम में बाबूजी से मैंने गुरुदेव की इस अद्भुत सूक्ति कविताओं की पुस्तक का …

गीतांजलि – रवीन्द्र नाथ टैगोर : हिन्दी भावानुवाद

गीतांजलि गुरुदेव रवीन्द्र नाथ टैगोर की विशिष्ट काव्य-रचना है। यह मूलतः बांग्ला में लिखी गयी थी और कालान्तर में स्वयं गुरुदेव ने इस रचना का अंग्रेजी रूपान्तर किया। अंग्रेजी में प्रकाशित इस कृति ने भारतीय कविता को विश्वमंच पर विशिष्ट पहचान दी। इस रचना के लिए गुरुदेव रवीन्द्र को साहित्य के प्रतिष्ठित नोबल पुरस्कार से …

सम्पर्क करें


सम्पर्क फॉर्म

[ufbl form_id=”1″]

पता

रम्यांतर वेब-स्थल एवं इससे सम्बन्धित अन्य ब्लॉग से जुड़ी किसी भी प्रकार की सूचना/सुझाव/प्रतिक्रिया/अनुशंसा स्वागत-योग्य है। इस हेतु सम्पर्क फॉर्म का प्रयोग किया जा सकता है।

रम्यांतर/ हिमांशु पाण्डेय
सकलडीहा बाजार,
सकलडीहा-चन्दौली
उत्तर प्रदेश-भारत- २३२१०९

ईमेल: ramyantarweb@gmail.com

नवीनतम ट्वीट्स

@Himaanshu


1 day ago

RT @Marutvati: निर्वाण षटकम्: आचार्य शंकर https://t.co/ebvcejPxrU via @Himaanshu

h
J
R


@Himaanshu


8 days ago

RT @singhsdm: Video released… DHEERE DHEERE (ROop Kumar Rathod, Pawan Kumar, Panchi Jalonvi) After a long gap a Ghazal Album https://t.co

h
J
R


@Himaanshu


8 days ago

RT @singhsdm: Finally Wabsta released. Roop, Sadhna,Vakil,Ashan, Panchi n me are here. Available on https://t.co/bSTx7anRas etc
https://t.c

h
J
R